January 27, 2022

साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज भी हुए भारतीय गेंदबाजों के फैन


नई दिल्ली ,। दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज कीगन पीटरसन का मानना है कि भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण उनके करियर का सबसे चुनौतीपूर्ण गेंदबाजी आक्रमण है। चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली के शानदार बल्लेबाजी प्रदर्शन और जसप्रीत बुमराह के फाइव विकेट हॉल की मदद से भारत ने तीसरे टेस्ट में अपनी स्थिति कुछ हद तक मजबूत कर ली है। पीटरसन ने कहा कि भारत की तेज बैटरी हर बार दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के खिलाफ काफी आक्रमक रवैया अपनाती है। उन्होंने कहा कि मेजबान टीम को उनका सामना करते समय ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।
पीटरसन ने कहा, यह (भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण) बेहद चुनौतीपूर्ण है। यह मेरे पूरे करियर में सबसे चुनौतीपूर्ण है। आपको हर समय अपने निशान पर ध्यान केंद्रित करना होगा या फिर वे आपको बेनकाब कर देंगे।
उन्होंने कहा, वे स्कोरिंग के मामले में आपकी परीक्षा लेते हैं, रन बनाने के अधिक अवसर नहीं हैं। उन्होंने हमें बहुत कुछ नहीं दिया है। वे यकीनन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमणों में से एक हैं। हम जानते थे कि सीरीज में जाना चुनौतीपूर्ण होने वाला है, हमें इससे निपटना होगा।
पीटरसन ने पहली पारी में 72 रन बनाए और पहली पारी में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। मेजबान टीम अपनी पहली पारी में 210 रन पर सिमट गई थी। दाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा कि उन्हें तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करना पसंद है लेकिन फिलहाल प्लेइंग इलेवन में रहकर खुश हैं।
पीटरसन ने कहा, मुझे तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करना पसंद है, मैंने अपने करियर के अधिकांश समय वहां बल्लेबाजी की है। शुरुआती विकेट खोने के मामले में, हमारे पास दो उच्च गुणवत्ता वाले सलामी बल्लेबाज हैं, वे अभी खराब समय से गुजर रहे हैं। डीन (एल्गर) और एडन खराब दौर से गुजरे हैं, लेकिन वह एक गुणवत्ता वाला खिलाड़ी है, हम सभी जानते हैं कि वह (मार्कराम) आखिरी में अच्छा करेगा।
उन्होंने कहा, मैं परेशान नहीं हूं, मुझे मिक्स में खेलने में खुशी होगी और अगर मैं नंबर तीन को अपना बना सकता हूं, तो मुझे खुशी होगी। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की सीरीज का निर्णायक टेस्ट मैच केप टाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला जा रहा है। दूसरे दिन का खेल खत्म हो चुका है। भारतीय टीम दूसरी पारी में 57 रन पर 2 विकेट खो चुकी है। दोनों ही सलामी बल्लेबाज केएल राहुल और मयंक अग्रवाल पवेलियन लौट चुके हैं। चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली क्रीज पर मौजूद हैं। फिलहाल, भारत 70 रनों की बढ़त बना ली है।
00

)जसप्रीत बुमराह का आलोचकों को करारा जवाब, कहा- मैं बाहरी शोर पर नहीं, बल्कि वर्तमान पर ध्यान देता हूं
नई दिल्ली । भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह कितने बड़े मैच विनर हैं, ये हर किसी को पता है। हालांकि, कई बार जब वे प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो उनकी आलोचना होती है, लेकिन बुमराह का मानना है कि वे बाहरी शोर से ज्यादा परेशान नहीं होते हैं और अपना सौ फीसदी देने में विश्वास रखते हैं। बुमराह इस बात को भी समझते हैं कि बाहर के शोर पर ध्यान देने का कोई मतलब नहीं है। बुमराह ने केपटाउन में जारी तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट अपने नाम किए।
 दूसरे दिन के खेल के दौरान 42 रन देकर 5 विकेट लेने बाद जसप्रीत बुमराह ने कहा, कुछ भी सामान्य नहीं था और मैं अतिरिक्त ध्यान नहीं दे रहा था। मैं वास्तव में बहुत अधिक क्रोधित नहीं था और मैं वर्तमान पर ध्यान केंद्रित कर रहा था और मुझे जो करना था वह किया। यह पूछे जाने पर कि क्या बाहर का शोर वास्तव में टीम को परेशान करता है तो इसका जवाब बुमराह ने मुस्कुराते हुए दिया।
किसी दिन विकेट मिलेंगे और किसी दिन नहीं
उन्होंने कहा, सफलता एक बाई-प्रोडक्ट है और मूल रूप से हम जो करते हैं वह एक दिनचर्या है और उसका पालन करना है। किसी दिन मुझे विकेट मिलेंगे, किसी दिन किसी और को विकेट मिलेंगे। बुमराह ने ये भी कहा कि आलोचना और प्रशंसा उनको ज्यादा विचलित नहीं करती है। उन्होंने कहा, आलोचना करने वाले होंगे और आपकी प्रशंसा करने वाले लोग होंगे और यह एक ऐसी चीज है जिसे एक व्यक्ति को तय करना होता है।
टेस्ट क्रिकेट में अब तक 7 फाइव विकेट हॉल प्राप्त कर चुके तेज गेंदबाज ने कहा, मैं वास्तव में बाहरी शोर पर ध्यान नहीं देता, क्योंकि यह वास्तव में मदद नहीं करता है। जब मैं गेंदबाजी करता हूं, तो यह मेरे नियंत्रण में होता है और मैं गेंदबाजी के प्रति अपने दृष्टिकोण को लाने की कोशिश करता हूं, जो हो रहा है उससे बचने की कोशिश करता हूं, हो सकता है कि कुछ लोग मेरी गेंदबाजी को पसंद करें और कुछ लोगों को मेरी गेंदबाज शायद पसंद नहीं हो।
0

)पांचवें और अंतिम टेस्ट के लिए ट्रेविस हेड की ऑस्ट्रेलियाई टीम में हुई वापसी
नई दिल्ली । ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले पांचवें और अंतिम एशेज टेस्ट के लिए अपनी टीम में एक बदलाव किया है। मेजबान ने ट्रेविस हेड को टीम में शामिल किया है। हेड की वापसी होने के बाद मार्कस हैरिस को बाहर जाना पड़ा है। कप्तान पैट कमिंस ने हेड के टीम में शामिल होने की पुष्टि की है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पांचवां मैच डे-नाइट टेस्ट के रूप में खेला जाएगा। ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिसबेन, एडिलेड और मेलबर्न में पहले तीन टेस्ट जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली है जबकि सिडनी में चौथा टेस्ट ड्रॉ रहा था। कंगारूओं ने अभी अपनी बॉलिंग अटैक को लेकर कोई खुलासा नहीं किया और ऐसा माना जा रहा है कि तेज गेंदबाज स्कॉट बोलैंड के फिटनेस टेस्ट के बाद गेंदबाजी विभाग में भी बदलाव हो सकता है। ऑस्ट्रेलियाई टीम इंग्लैंड के साथ जारी पांच मैचों की एशेज सीरीज में 3-0 से आगे है। सीरीज का चौथा टेस्ट रोमांचक अंदाज में ड्रॉ रहा था। ट्रेविस हेड सिडनी में खेले गए चौथे टेस्ट में नहीं खेले गए थे क्योंकि वह कोरोना के कारण टीम से बाहर हो गए थे। लेकिन पांचवें टेस्ट में वापसी करने के बाद वह उस्मान ख्वाजा के साथ बैटिंग कर सकते हैं। ख्वाजा ने सिडनी में पहली पारी में 137 और दूसरी पारी में नाबाद 101 रन बनाए थे। वहीं, हैरिस ने सीरीज के पहले चार मैचों में 30 से कम की औसत से 179 रन बनाए हैं। हेड के आने के बाद ख्वाजा ओपनिंग कर सकत हैं जबकि हेड नंबर-5 पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। ओपनिंग में ख्वाजा का अबतक शानदार रिकॉर्ड रहा है और उन्होंने 7 पारियों में 484 रन बनाए हैं, जिसमें दो शतक और दो अर्धशतक शामिल है।
00

)भारत का पहला ही मुकाबला होगा बेहद कांटेदार
नई दिल्। आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप का 14वां एडिशन वेस्टइंडीज में शुरू हो रहा है। भारतीय टीम टूर्नामेंट की अबतक की सबसे सफल टीम रही है, जिसने 2000, 2008, 2012 और 2018 में यह खिताब जीता है। इसके अलावा वह 2016 में उपविजेता रहा था। 14वें एडिशन में भारत को अपना पहला मुकाबला 15 जनवरी को गुयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलना है। अंडर-19 एशिया कप जीतकर वेस्टइंडीज पहुंची यश धुल की कप्तानी वाली भारतीय टीम का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है। टीम ने टूर्नामेंट में खेले गए अपने दोनों वॉर्मअप मुकाबले में शानदार जीत हासिल की है। आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप 2022 में भारत को अपना दूसरा मुकाबला त्रिनिडाड के ब्रायन लारा स्टेडियम में 19 जनवरी को आयरलैंड के खिलाफ खेलना है। टूर्नामेंट में भारतीय टीम अपना तीसरा ग्रुप मैच त्रिनिडाड के ब्रायन लारा स्टेडियम में 22 जनवरी को युगांडा के खिलाफ खेलेगी। टूर्नामेंट में ग्रुप स्टेज के मुकाबले 22 जनवरी तक खेले जाएंगे। इसके बाद 25 जनवरी से प्लेट ग्रुप के मैच होंगे। फाइनल मुकाबला 5 फरवरी को खेला जाएगा। युगांडा की टीम इस टूर्नामेंट में पहली बार भाग ले रही और उसे भारत, दक्षिण अफ्रीक तथा आयरलैंड के साथ ग्रुप-बी में रखा गया है।
टूर्नामेंट में कुल 16 टीमें हिस्सा ले रही हैं, जिन्हें 4 ग्रुप में बांटा गया है। ग्रुप-्र में बांग्लादेश, इंग्लैंड, कनाडा, यूएई शामिल है जबकि ग्रुप-ष्ट में अफगानिस्तान, पाकिस्तान, पीएनजी और जिम्बाब्वे हैं। वहीं, ग्रुप-ष्ठ में ऑस्ट्रेलिया, स्कॉटलैंड, श्रीलंका और वेस्टइंडीज की टीम शामिल है। अंडर-19 वर्ल्ड कप का पिछला संस्करण 2020 में न्यूजीलैंड में खेला गया था, जिसे बांग्लादेश ने जीता था। वेस्टइंडीज में होने वाले आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप 2022 में भारत के तीनों ग्रुप मैच भारतीय समयानुसार शाम के 7:30 बजे से शुरू होगा। टूर्नामेंट में भारत के अलावा अन्य मैच भी भारतीय समयानुसार शाम के 7.30 बजे से शुरू होंगे।
अंडर-19 वर्ल्ड कप 2022 के लिए भारतीय टीम: यश धुल (कप्तान), हरनूर सिंह, अंगक्रिश रघुवंशी, एसके रशीद (उपकप्तान), निशांत सिंधू, सिद्धार्थ यादव, अनीश्वर गौतम, दिनेश बाना, आराध्या यादव, राज अंगद बावा, मानव पारख, कौशल तांबे, आरएस हैंगरगेकर, वासु वत्स, विक्की ओस्तवाल, रविकुमार, गर्व सांगवान।
रिजर्व प्लेयर्स : ऋषि रेड्डी, उदय सहारन, अंश गोसाई, अमृत राज उपाध्याय, अमृत राज उपाध्याय।