January 27, 2022

कोरोना की तीसरी लहर ने पकड़ी रफ्तार 24 घंटे में 2,47,417 नए मामले, 380 लोगों की मौत


नई दिल्ली । देश में कोरोना की तीसरी लहर का कहर तेजी से बढऩे लगा है। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के नए मामलों की संख्या ढाई लाख के करीब पहुंचती नजर आई। वहीं इस दौरान लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। तीसरी लहर के कहर के कारण अब देश में सक्रीमय मामलों की संख्या तेजी से बढ़ते हुए 11 लाख के आंकड़े को पार कर चुकी है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में तीसरी लहर ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है और पिछले छह दिनों में संक्रमितों की संख्या में 150 फीसदी इजाफा हो चुका है। बुधवार को देश भर में कुल 2,47,417 नए केस मिले हैं वहीं इस दौरान 84,825 लोग संक्रमणमुक्त होकर स्वस्थ भी हुए हैं, जबकि इस दौरान 380 लोगों की मौत भी दर्ज की गई और पिछले चार दिनों में कुल 1280 लोगों की मौतें हो चुकी हैं। एक दिन में हुई मौतों में से 176 मौतों के आंकड़े अकेले केरल में दर्ज की गई। इसके साथ ही सक्रिय मामलों की संख्या 11,17,531 हो गई है, जो कुल मामलों का 3.08 प्रतिशत है। जबकि दैनिक संक्रमण दर 13.11 फीसदी से ज्यादा हो गया है। वहीं वीकली पॉजिटिविटी रेट भी 10 फीसदी के पार बना हुआ है। यही नहीं रिकवरी रेट जो पिछले महीने ही 98 फीसदी के पार था, वह अब घटते हुए 95.59 प्रतिशत ही रह गया है।
पांच राज्यों में कोरोना की तेज रफ्तार
देश के पांच राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 46,723 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद दिल्ली में 27,561 मामले, वहीं तीसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल में 22,155 केस, कर्नाटक में 21,390 और तमिलनाडु में 17,934 मरीज मिले हैं। देश के कुल 54.87 फीसदी मरीज केवल इन पांच राज्यों से आए हैं। वहीं महाराष्ट्र से अकेले 18.88 फीसदी मामले सामने आए हैं।
टीकाकरण 154 करोड़ के पार
मंत्रालय के अनुसार राहत की बात यह है कि देश में वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज है और अब तक राष्ट्रव्यापी टीकाकरण के तहत अब तक 154.61 करोड़ टीके दिए जा चुके हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि टीका लगवाने वाले लोगों की स्थिति संक्रमण के बाद भी ज्यादा गंभीर नहीं हो रही है। ऐसे में अब भी बचाव के साथ टीका ही कोरोना संकट से निपटने का सबसे कारगर उपाय है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 157.36 करोड़ से ज्यादा डोज उपलब्ध कराई गई हैं। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी वैक्सीन की 15.75 करोड़ से ज़्यादा डोज उपलब्ध है।
युवाओं में हुआ 3 करोड़ से ज्यादा टीकाकरण
देश में तीन जनवरी से शुरू हुए 15 से 18 साल के किशोरों का टीकाकरण सफल साबित हो रहा है। महज 10 दिनों में देश के अंदर 3 करोड़ से ज्यादा किशोरों को कोरोना टीका दिया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने इसकी जानकारी दी। देश में इसी साल 3 जनवरी से ही युवाओं का टीकाकरण शुरू हुआ है। इसके लिए एक जनवरी से पंजीकरण की व्यवस्था शुरू की गई थी। फिलहाल 15 से 18 साल के किशोरों को ही कोरोना वैक्सीन लगवाने की मंजूरी मिली है। देश में युवाओं को भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सीन ही दी जा रही है।
ओमिक्रॉन के केस 5,400 के पार
इस बीच देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट के केसों की संख्या तेजी से बढ़त हुए 5,488 हो गई है। फिलहाल ओमिक्रॉन से संक्रमित 2,162 लोग रिकवर हो चुके हैं। ओमिक्रॉन के अब तक सबसे ज्यादा 1,367 केस महाराष्ट्र में मिले हैं। हालांकि अब दूसरे नंबर पर दिल्ली की बजाय राजस्थान है, जहां ओमिक्रॉन के अब तक 792 केस मिल चुके हैं। इसके अलावा दिल्ली में 549 केस हैं। 486 केसों के साथ केरल चौथे नंबर पर है, जबकि 479 केसों के साथ कर्नाटक पांचवें नंबर पर है।