June 19, 2021

जरूरतमंद लोगों की मदद को भी आगे आ रही उत्तराखंड पुलिस

देहरादून। उत्तराखंड पुलिस कोरोना की दूसरी लहर को काबू करने की दिशा में जहां सत रुख अपना रही है, वहीं जरूरतमंद लोगों की मदद को भी आगे आ रही है। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के निर्देशन में एक मई से उत्तराखंड पुलिस ने मिशन हौसला अभियान चलाया हुआ है। इसके तहत लोगों की मदद की जा रही है। कोरोना कर्यू के दौरान लोगों के घर तक खाना पहुंचाया जा रहा है। साथ ही मरीजों तक दवा, ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की जा रही है। यही नहीं, मौत होने पर जब परिजन हाथ नहीं लगा रहे हैं तो पुलिस ऐसे शवों का अंतिम संस्कार कर रही है। पुलिस महानिदेशक अशोक कमार के मुताबिक आम जनता एवं पुलिस कर्मियों के लिए यह एक कठिन समय है। हर तरफ कोविड के मरीज बढ़ रहें हैं। बेड, ऑक्सीजन और वेन्टीलेटर्स की कमी है। ऐसे में जो लोग कालाबजारी और जमाखोरी कर रहे हैं उन पर रोक लगे। जनता को दवाईयां, ऑक्सीजन, प्लाजमा, राशन इत्यादि वस्तुएं दिलाने में उत्तराखंड पुलिस निरंतर प्रयास कर रही है। ये सब मिशन हौंसला का हिस्सा हैं। समाज में बहुत से लोग एवं संस्थाएं हैं जो बढ-चढ कर व आगें आकर उपरोक्त कार्य में पुलिस की मदद करना चाहती है। ऐसे लोगों के साथ उत्तराखंड पुलिस समन्वय स्थापित कर लोगों को राहत पहुंचाएगी।
इस सपूर्ण कार्य के लिए पुलिस थाना नोडल सेन्टर के रूप में कार्य करेगा। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, बाजार में भीड-भाड, कालाबजारी, जमाखोरी इन्फोर्समेंन्ट के अतिरिक्त राहत पहुचाने में भी पुलिस थाना नोडल सेन्टर के रूप में कार्य करेगा। इसके लिए उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा 112 स्टेट इमेरजेन्सी कॉल सेन्टर, प्रत्येक जनपद मुयालय में स्थापित कोविड कन्ट्रोल रूम तथा नोडल सेन्टर स्थापित किए गए हैं। इसके माध्यम से कार्य करने वाले उत्तराखंड पुलिस के 160 थानों में उपरोक्त कार्य हेतु जो भी कॉल्स प्राप्त होगी जरूतरमंदों को राहत पहुंचाई जाऐगी। 112 कन्ट्रोल में व्हाट्सएप के माध्यम से भी इन नबरों 9411112780, 9411112702 पर सहायता प्राप्त की जा सकती है।
इस अभियान की शुरुआत से वर्तमान तक 1023 लोगों को ऑक्सीजन गैस सिलेंडर, 442 लोंगों को अस्पताल में बेड, 125 लोंगों को प्लामा डोनेट, 7591 लोंगों को दवाइयां, 245 लोगों को एबुलेंस, 2814 लोगों को दूध आदि आवश्यक वस्तुओं को दिलाने में सहायता प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त पुलिस ने जनसामान्य एवं प्रशासन की मदद से 9249 लोगों को राशन एवं भोजन वितरण करने के साथ-साथ 416 कोरोना पॉजिटिव मृतकों का दाह संस्कार किया।
जहां एक ओर पुलिस जनता की मदद करने में सबसे आगे है वहीं पुलिस ने नियम तोडऩे वालों और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सत रूख अपनाया है। 23 मार्च 2021 से वर्तमान तक उत्तराखंड पुलिस ने मास्क ना पहनने को लेकर 118290, सोशल डिस्टेन्सिंग आदि के उल्लंघन में 141158 कार्रवाई की। इनके अतिरिक्त पुलिस एक्ट की धारा 81/83 के अन्तर्गत 7688 चालान, डीएम एक्ट एवं एमएम एक्ट के तहत 639 एफआईआर सहित 849 अभियुक्तों के विरूद्ध कार्रवाई की गई। इस प्रकार कुल 267985 कार्रवाई के अन्तर्गत 436.28 लाख रुपये चालान के रूप में वसूले। 471573 मास्क वितरित किए गए।
इसके अलावा आक्सीजन, कोरोना से संबंधित आवश्यक दवाइयों एवं उपकरणों आदि की कालाबजारी के तहत कार्यवाही करते हुए वर्तमान तक 24 एफआईआर दर्ज करते हुए 35 अभियुक्तों के विरूद्ध कार्रवाई की गई।
वर्तमान तक कोरोना की द्वितीय लहर में संक्रमित पुलिस कर्मियों की संया कोराना की प्रथम लहर में संक्रमित कर्मियों से अधिक हो चुकी है। अभी तक कोराना की द्वितीय लहर के दौरान 1993 पुलिस कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना के प्रथम लहर में 1981 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए थे। द्वितीय लहर में संक्रमित पुलिस कर्मी वैक्सीनेशन होने के कारण गभीर संक्रमित नहीं हुए हैं। समस्त उत्तराखंड में 762 पुलिस कर्मी क्वारंटीन हैं, जबकि अभी तक कोरोना के दोनो चरणों में 10 पुलिसकर्मियों की मृत्यु हो चुकी है।

Shares
error: Content is protected !!