September 22, 2021

विधि-विधान के साथ भगवान बदरीनाथ की गाडू घड़ा यात्रा शुरू – – सुहागिन महिलाओं ने पिरोया तिलों का तेल 

नई टिहरी। भगवान बदरी विशाल की गाडू घड़ा (तेल कलश) अभिषेक यात्रा बृहस्पतिवार सुबह 10 बजे पूजा-अर्चना के बाद राज दरबार से शुरू हो गई। दरबार में टिहरी सांसद और महारानी मालाराय लक्ष्मी शाह सहित कई सुहागिन महिलाओं ने तिलों का तेल पिरोया। राजदबार में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सबसे पहले वहां मौजूद भक्तगणों की थर्मल स्क्रीनिंग की। उसके बाद राजदरबार में पूजा-अर्चना के साथ सुहागिन महिलाओं ने मुंह पर पीले कपड़े बांधकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ श्री बदरीनाथ भगवान के अभिषेक के लिए तिलों का तेल पिरोया। राजपुरोहित कृष्ण प्रसाद उनियाल, संपूर्णानंद जोशी ने विधि-विधान के साथ गणेश पूजन किया। धार्मिक अनुष्ठान के बाद गाडू घड़ा यात्रा के साथ ही श्री बदरीनाथ यात्रा का आगाज हो गया।
शुक्रवार को गाडू घड़ा यात्रा श्रीनगर से कर्णप्रयाग होते हुए श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर डिमर पहुंचेगी। डिमरी पंचायत डिमर के अध्यक्ष आशुतोष डिमरी ने बताया कि 15 मई को गाडू घड़ा तेल कलश यात्रा जोशीमठ के लिए प्रस्थान करेगी। 17 मई को बदरीनाथ धाम पहुंचेगी। 18 मई को सुबह 4.15 बजे पूजा-पाठ के बाद श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खोल दिए जाएंगे। इस मौके पर श्री बदरीनाथ डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के अध्यक्ष विनोद डिमरी श्रीराम, योतिष डिमरी, अंकित डिमरी,  राणाकर्ण प्रकाश जंग, राजपाल जड़धारी आदि उपस्थित रहे।
बदरीनाथ डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के अध्यक्ष विनोद डिमरी श्रीराम ने चारधाम यात्रा स्थगित करने के प्रदेश सरकार के निर्णय को स्वागत योग्य बताया। उन्होंने लोगों से कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए घर पर रहकर ही भागवान बदरीविशाल का ध्यान करने की अपील की। कहा कोरोना संक्रमण की स्थिति सामान्य होने पर भक्तों को भगवान बदरीविशाल के दर्शन करने का अवसर मिलेगा।

Shares
error: Content is protected !!