May 17, 2022

ढाई साल बाद सदन में गरजे पंचायत जनप्रतनिधि


बागेश्वर। कोरोना के चलते जिले में बीडीसी बैठक करीब ढाई साल तक स्थगित रही। शुक्रवार को सदन में ढाई साल बाद पंचायत प्रतिनिधियों ने शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क तथा पानी के मुद्दे उठाए। जल जीवन मिशन के तहत हो रहे कार्यों में तेजी लाने तथा हर घर नल, हर घर जल योजना को साकार करने पर जोर दिया। बारिश से पहले सड़े गले बिजली के पोल बदलने और पेड़ों की लॉपिंग करने की मांग भी जोरशोर से उठाई। ब्लॉक सभागार में ब्लॉक प्रमुख पुष्पा देवी की अध्यक्षता में बीडीसी बैठक हुई। बैठक में कृषि, उद्यान, पशुपालन, जल निगम, जल संस्थान, बिजली, शिक्षा, बाल विकास, पर्यटन, सिंचार्इ, ग्राम्य विकास सहित सभी विभागीय अधिकारियों द्वारा संचालित योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में पेजयल, विद्युत, शिक्षा, स्वास्थ्य की समस्यायें मुख्य रूप से छायी रही। बीडीओ ने सदन के सभी सदस्यों से समस्याएं लिखित रूप में देने का अनुरोध किया। जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीण क्षेत्रों में पेजयल समस्याओं को उजागर करते हुए जल जीवन मिशन के कार्यों में तेजी लाने की मांग रखी। ईई पेयजल निगम व जल संस्थान ने बताया कि जल जीवन मिशन के प्रथम चरण का कार्य लगभग पूरा होने को है, द्वितीय चरण के कार्यों के प्रस्ताव जिला समिति ने पास कर दिए हैं, कार्यों के टेंडर कर कार्य शुरू किए जा रहे हैं।
इन्होंने उठाए मुद्दे: पालनीबगड़ के प्रधान ने कहा कि सड़क के बनने से पेयजल लाइन ध्वस्त हो गई है। ग्रामीण चार किमी दूर से पानी ला रहे हैं। क्षेत्र पंचायत सदस्य आनंद तिवारी ने क्षेत्र में सड़े-गले पोल बदलने की मांग की। प्रधान चौंगावछीना ने देवलधार विद्यालय में 36 बच्चों पर एक ही शिक्षक तैनात है। यहां एक और शिक्षक की तैनाती की मांग की। प्रधान महेश चंद्र ने विद्यालय में शिक्षक के शराब पीकर आने की शिकायत भी की। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने शीघ्र जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रधान पाना ने प्राथमिक विद्यालय पाना में तीन साल से एसएमसी की बैठक न कराने पर नाराजगी व्यक्त की। साथ ही मिड-डे मिल की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए।

AllEscort