January 27, 2022

जिले से तीन-तीन कैबिनेट मंत्री, पर चार-चार तहसील एक एसडीएम के भरोसे  

पौड़ी।  जिले से तीन मंत्री होने के बावजूद कई तहसीलों में पूर्णकालिक एसडीएम नहीं है। बीरोंखाल तहसील उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत और सिचांई मंत्री सतपाल महाराज के विधानसभा क्षेत्र का हिस्सा है। बावजूद इसके पूर्णकालिक एसडीएम की तैनाती नहीं हो पाई। स्थिति यह है कि एक एसडीएम के पास जिले की चार-चार तहसीलों की जिम्मेदारी है और लोग राजस्व विभाग से जुड़े जरूरी कामों के लिए परेशान रहते हैं। एसडीएम धुमाकोट इस वक्त जिले की चार तहसीलों का कामकाज देख रहे हैं। उनके पास धुमाकोट, बीरोंखाल, थलीसैंण और यमकेश्वर की जिम्मेदारी है। बीरोंखाल और थलीसैंण तहसील में तो लंबे समय से तहसीलदार का पद रिक्त चल रहा हैं। इस स्थिति में अफसर भी एक तहसील में ज्यादा समय नहीं दे पाते। इससे क्षेत्र के विकास कार्यों सहित ग्रामीणों के काम भी लंबे समय तक लटके रहते हैं। ग्रामीणों और स्थानीय जनप्रतिनिधियों में इसे लेकर गुस्सा भी है। कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष डॉ. जेएस नेगी, कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष ख्यात सिंह नेगी कहते हैं कि भाजपा के दो कैबिनेट मंत्रियों के क्षेत्र की तहसीलों में पूर्णकालिक अधिकारियों की तैनाती नहीं हो पा रही है, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी कामकाज कैसे चल रहे हैं।
लोगों की दिक्कतों की भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। उधर, धुमाकोट एसडीएम प्रवीन कुमार ने बताया कि उन्होंने सभी तहसीलों में रोस्टर बना रखा हैं, वह पूरा समय दे रहे हैं।
जिले में खाली चल रही तहसीलों में एसडीएम, तहसीलदारों के पद भरने के लिए शासन से लगातार पत्राचार किया जाता है।
– डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, जिलाधिकारी , पौड़ी