November 27, 2021

युवक व महिला की हत्या  करने  के लिए 10 लाख की  सुपारी देने वाला धरा गया

देहरादून। पौड़ी जेल से कुख्यात नरेंद्र बाल्मीकि द्वारा जेल से हत्या की सुपारी लेने का पर्दाफाश पुलिस ने किया है। एक महिला की हत्या के साथ ही जेल से कोर्ट पेशी के दौरान एक युवक की हत्या की सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार किया गया। इस सब  के लिए 10 लाख में डील की गई थी।
पुलिस  के अनुसार एसटीएफ टीम देहरादून को माह अक्टूबर मे कारागार निरूद्व अपराधियों एवं उत्तराखण्ड में सक्रिय / पुराने अपराधियों की तकनीकी एवं भौतिक रूप से निगरानी के दौरान प्रकाश में आया कि पौडी कारागार में निरूद्व कुख्यात हत्यारोपी नरेन्द्र बाल्मिकी  मंगलौर थानाक्षेत्र में किसी व्यक्ति से रंजीश के चलते उन दोनो की हत्या की योजना बना रहा है।  साथ ही साथ नरेन्द्र बाल्मिकी द्वारा किसी महिला की हत्या करने के लिये 10 लाख रूपये की सुपारी लेना ज्ञात हुआ। एस0टी0एफ0 की टीमो द्वारा विगत कुछ माह पूर्व से नरेन्द्र बाल्मिकी के शूटरो, अस्लाह सप्लायरो, उसके पुराने साथियों तथा सहयोगियों की निगरानी लगायी गयी। लगाई निगरानी व पतारसी सुरागरसी के दोरान  दिनाक 31.10.2021 को पुख्ता जानकारी मिली कि उत्तरप्रदेश के सहारनपुर व मुजफ्फरनगर तथा हरियाणा के फरीदाबाद क्षेत्र के कुछ गैंगस्टरों से उसके गिरोह के रूडकी निवासी मुख्य शूटर पकॅज द्वारा सम्पर्क किया गया है और तीन शूटर देहरादून आ रहे है जो कि चन्द्रबदनी, देहरादून क्षेत्र में किसी कमरे पर आयेगे । इस पर त्वरित कार्यवाही करते हुये एस0टी0एफ0 की एक टीम को क्लेमनटाउन क्षेत्र में रवाना किया गया जिस पर कार्यवाही करते हुये आशारोडी चैक पोस्ट के पास 03 अभियुक्तो नीरज पण्डित पुत्र सुशील नि0 मोहना, थाना चाईशा, जिला फरीदाबाद राज्य हरियाणा, सचिन पुत्र सोहनवीर नि0 सोरम पट्टी हस्वा, पो0 सोरम, थाना शाहपुर, तह0 बुढाना, जिला मु0नगर तथा अकिंत पुत्र बलिष्टर नि0 ग्राम सलारपुरा पो0 गंगोह जिला सहारनपुर को गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से 02 तमंचे 315 बोर 04 जिन्दा कारतूस, 01 तमंचा 312 बोर, 02 जिन्दा कारतूस, 03 मोबाइ्रल फोन, 01 मोटर साईकिल, 01 एक्टिवा बरामद की गई जिस सम्बन्ध में मु0अ0स0 115/120 बी भादवि और 25 आम्र्स एक्ट थाना क्षेत्रान्तर्गत क्लेमनटाउन जनपद देहरादून में पंजीकृृत कराया गया। पूछताछ में बताया गया कि पौडी जेल में बन्द नरेन्द्र बाल्मिकी के कहने पर उन्हे पकॅज ने बुलाया और बताया कि रूडकी में दो व्यक्त्यिों पर हमला करना है और हम तीनो को एक-एक तमंचा दिया और बोला कि जब काम होगा उन्हे रूडकी बुला लेगा।
अभियुक्तों में नीरज पण्डित निवासी हरियाणा, सचिन निवासी मुजफ्फरनगर तथा अकिंत पूर्व में गैगस्टर एक्ट में जेल जा चुके है। फरार अभियुक्त पकॅज निवासी रूडकी, नीरज पण्डित वर्ष 2016 में दिनदहाडे सनसीखेज हत्या में शामिल रहे है। अकिंत तथा सचिन द्वारा गैंग के लिये काम करने के साथ-साथ आम्र्स सप्लाई एवं चोरी की गाडी भी उपलब्ध कराते है। उच्चाधिकारी गणों के आदेशानुसार थाना क्लेमेंट टाउन पर उक्त घटना के संबंध में पंजीकृत  मुकदमा में थाना क्लेमेंट टाउन व एसटीएफ की संयुक्त टीम द्वारा संलिप्त अन्य व्यक्तियों की निगरानी /गिरफ्तारी  हेतु टीम गठित की गई टीम द्वारा सटीक पतारसी व सुराग रस्सी कर उक्त मुकदमे के संबंधित पीड़ितों की पहचान की गई तथा पीड़ित की पहचान के बाद सुपारी देने वाले व्यक्तियों के संबंध में मुखबिर तंत्र सक्रिय कर सर्विलांस के माध्यम से पुख्ता जानकारी प्राप्त की गई सुपारी देने वाले व्यक्तियों की पुख्ता जानकारी होने पर संयुक्त टीम द्वारा दिनांक 4- 11-2021को अपना  उक्त अभियोग में दो अभियुक्त को ग्राम तांसीपुर मंगलौर से गिरफ्तार कर उनके कब्जे से उक्त सुपारी की घटना में घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन बरामद किया गया अभि. गणों को माननीय में पेश किया जाएगा।
पूछताछ में अभियुक्तो द्वारा बताया गया कि पारिवारिक मामले में अपनी प्रतिष्ठा के लिए जेल में बंद बदमाश नरेंद्र बाल्मीकि से हमने एक फेक आईडी के फोन से बात की थी जिसमें नरेंद्र बाल्मीकि को 10 लाख में सुपारी दी थी जिसमें एक लड़के को कोर्ट में पेशी के दौरान मारने के लिए कहा था। 4 लाख एडवांस मे उसका कोई आदमी ले गया था बाकी काम होने के बाद देना था । अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा बचाने के लिए हमने षड्यंत्र रचा था।
पूछताछ में इन्हों ने अपने नाम राजकुमार त्यागी पुत्र संगीता निवासी ग्राम काशीपुर थाना मंगलौर जिला हरिद्वार उम्र 45 वर्ष व  नीरज त्यागी पुत्र संगठन निवासी ग्राम तुलसीपुर थाना मंगलौर जिला हरिद्वार उम्र 40 वर्ष बताया गया। इनके  पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त एक मोबाइल फोन नोकिया की पैड बरामद किया है।

Shares
error: Content is protected !!