February 26, 2021

गरुड़ में पशुपालन विभाग की प्रदर्शनी, स्थानीय लोगों को नही लगी भनक

 

बागेश्वर गरुड़ ।  पशु पालन विभाग के तत्वाधान में नेशनल लाइवस्टॉक मिशन के अन्तर्गत राजकीय पशु चिकित्सालय गरूड़ में विकास खण्ड स्तरीय पशु मेला/प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसका शुभारम्भ जिलाधिकारी विनीत कुमार ने किया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने पशुपालकों को संबोधित करते हुए कहा कि विकास खण्ड गरूड़ में पशुपालकों द्वारा कड़ी मेहनत के साथ अच्छे नस्ल के पुशओं का पालन किया जा रहा है, जिसके लिये सभी पशु पालक पशु पालन के क्षेत्र में बेहतर ढ़ंग से कार्य कर रहे है इसके लिए उन्होंने सभी पशु पालकों से अपेक्षा की है कि सरकार द्वारा पशुपालन विभाग के माध्यम से कर्इ महत्वाकांशी योजनायें संचालित की जा रही है, जिसके लिए उन्होंने अधिक से अधिक किसानों को इन योजनाओं का लाभ उठाने को कहा है। उन्होंने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये है कि पशु पालकों की आय को दुगनी करने तथा उन्हें आत्मनिर्भर करने के लिए सरकार द्वारा जो भी योजनायें उनके लिए संचालित की जा रही है उन योजनाओं का लाभ उन्हें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जनपद बागेश्वर में ए2 मिल्क ग्रोथ सेंटर स्थापित किया गया है जिसके माध्यम से पशु पालकों को दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में उन्हें उचित मूल्य उपलब्ध होगा जो 66 रूपये प्रति लीटर तक मिलेगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही ग्रोथ सेंटर भी तैयार किया जा रहा है। जिसके माध्यम से किसानों को उचित लाभ उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि पशु पालन विभाग द्वारा कृृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से 90 प्रतिशत से अधिक मादा बछिया पैदा हो रही है जिससे कि किसानों को इसका लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि पशु प्रदर्शनी में क्षेत्रीय पशुपालकों द्वारा कर्इ नश्ल के पशुओं का पालन किया जा रहा है जो पशुपालन के क्षेत्र में एक सराहनीय पहल है। उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शनी में सभी पशुपालाकों द्वारा अपने पशुओं का बेहतर ढंग से पालन किया जा रहा है जो क्षेत्र के अन्य पशु पालकों के लिए भी प्रेरणादायक होगा।
इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा पशु प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए सर्वश्रेष्ठ चैम्पीयन पशु का चयन शम्भु दत्त काण्डपाल के गाय का चयन किया गया तथा इस अवसर पर अलग-अलग श्रेणीयों में पशुओं का चयन किया गया जिन्हें प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार दिया गया जिसमें गाय दुधारू स्वदेशी का प्रथम पुरस्कार विमला भट्ट, द्वितीय दीपा देवी, तृृतीय पुरस्कार कैलाश चन्द्र गढसेर तथा गाय सूखी स्वदेशी प्रथम पुरस्कार विशन राम गढसेर, द्वितीय गणेश कुमार, तृतीय पुरस्कार गायत्री देवी भकुनखोला, गाय दुधारू सीबी प्रथम पुरस्कार शम्भु दत्त काण्डपाल पुरड़ा, द्वितीय संतोषी गढसेर, तृृतीय विमला नेगी बयालिसेरा, गाय सूखी सीबी प्रथम पुरस्कार गीता नेगी स्यालदेय, द्वितीय विमला देवी बयालिसेरा, तृतीय हरगोविन्द पाठक गढसेर, भैंस दुधारू में प्रथम पुरस्कार कृष्ण चन्द्र तिवारी, द्वितीय गिरधारी लाल, तृतीय भुवन राम गढ़सेर, भैंस सूखी प्रथम पुरस्कार नन्दी देवी बयालिसेरा, द्वितीय बीना बिष्ट गढसेर, तृृतीय निकीता भकुनखोला, थोरी भैंस प्रथम पुरस्कार नीमा भट्ट, द्वितीय प्रीति गढसेर, तृृतीय मदन मोहन जोशी मटेना, बछिया एसएसएस प्रथम आशा मिश्रा गढसेर, द्वितीय मनोज भरडा कुमरोडा, पुष्पा नेगी भकुनखोला तथा बछिया सामान्य में प्रथम पुरस्कार कृृष्ण तिवारी, द्वितीय बीना बिष्ट गढसेर तथा तृतीय पुरस्कार जगदीश सिंह बैजनाथ को दिया गया।

गौरतलब हैं कि इस प्रदर्शनी की जानकारी स्थानीय पशुपालकों को नही लग सकी। लोगो का कहना है कि शाशन ने इस बारे में हमे अवगत ही नही कराया था।
इस अवसर पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में पशुपालकों को विस्तारपूर्वक जानकारी उपलब्ध करायी गयी। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी के0एन0तिवारी, उप जिलाधिकारी गरूड़ जयवर्धन शर्मा, खण्ड विकास अधिकारी गरूड़ त्रिलोक सिंह भाकुनी, ब्लाक प्रमुख हेमा बिष्ट, क्षेत्र पंचायत सदस्य जनार्धन लोहनी, ग्राम प्रधान गढ़सेर हेमा फस्र्वाण सहित संबंधित विभागीय अधिकारी/कर्मचारी एवं पशुपालक आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ0 पीके पाठक द्वारा किया गया।

Shares
error: Content is protected !!