December 4, 2020

बागेश्वर में चीड़ का पेड़ काटने पर वन विभाग ने किए 3 गिरफ्तार

बागेश्वर। चीड़ का पेड़ काटना तीन ग्रामीणों को महंगा पड़ गया है। वन विभाग के रेंजर की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस तीनों आरोपितों को अदालत में पेश करेगी। वन विभाग की इस कार्रवाई से स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया है। वन क्षेत्राधिकारी मनीष कुमार ने कोतवाली में दी तहरीर में कहा कि रैखोली गांव में तीन लोग चीड़ का पेड़ काटते हुए पाए गए। उन्हें रोकने की कोशिश की गई, लेकिन वह मारने को उतारु हो गए। धारदार हथियार से वार करने का प्रयास भी किया। पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई की। पुलिस अधीक्षक महेश जोशी के आदेश पर आरोपितों की गिरतारी को टीम गठित की गई। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ धारा धारा 307/353 आइपीसी में मामला पंजीकृत किया। कोतवाल डीआर वर्मा ने बताया कि आरोपित विनोद चंद्र जोशी पुत्र त्रिलोक चंद्र जोशी उम्र 45 वर्ष, निवासी रैखोली, पूरन चंद्र पांडे पुत्र उर्फ सुनील पुत्र रमेश चंद्र पांडे उम्र 22 वर्ष के अलावा पुलिस ने रैखोली निवासी प्रताप राम पुत्र भवान राम को बिलौना के समीप से गिरतार किया। उन्होंने कहा कि आरोपितों को अदालत में पेश किया जा रहा है। इधर, रेंजर ने बताया कि चीड़ का पेड़ काटना जुर्म है। कई बार लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है, लेकिन वह नहीं मान रहे हैं। वन विभाग ऐसे लोगों के खिलाफ सत कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा कि मनमानी करने वालों को किसी हाल में नहीं बशा जायेगा। टीम में उपनिरीक्षक निशा पांडे, आरक्षी भुवन सिंह आदि शामिल थे।

Shares
error: Content is protected !!