September 28, 2020

गरुड़ ब्लॉक से उठ रही रिवर ट्रीटमेंट का काम वन विभाग से कराने की मांग

बागेश्वर, गरुड़  ।   सरयू और गोमती नदियों में रिवर ट्रीटमेंट के तहत खनन का काम वन विभाग को देने की मांग उठने लगी है। गरुड़ ब्लॉक के अधिवक्ताओं ने मुयमंत्री को ज्ञापन भेजकर ठेकेदारी प्रथा को समाप्त करने और वन विकास निगम से खनन करवाने की मांग की। अधिवक्ताओं ने एसडीएम के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भेजा। उन्होंने कहा कि गोमती और सरयू नदियों में हर साल रिवर ट्रीटमेंट के तहत ठेकेदारों से खनन का कार्य कराया जाता है। जिससे सरकार को बड़े स्तर पर राजस्व की हानि हो रही है। लगातार खनन से नदियों का स्वरूप भी बिगड़ता जा रहा है। जलस्तर में भी हर साल गिरावट दर्ज की जा रही है। बताया कि खनन व्यापारी नदियों से निकाला रेता व बजरी को मनमाने दाम पर बेचते हैं। जिससे लोगों को आर्थिक रूप से हानि भी होती है। उन्होंने कहा कि जिले में भी गौला नदी की तर्ज पर वन विकस निगम से खनन कराने की मांग की। जिससे सरकार को राजस्व भी मिलेगा और आम जनता को भी उचित दाम में भवन व अन्य निर्माण कार्यों के लिए रेता, बजरी, कंकड़ आदि उपखनिज उपलब्ध हो सकेंगे। इस मौके पर एडवोकेट गिरीश कोरंगा, कुंदन सिंह बोरा आदि मौजूद रह

Shares
error: Content is protected !!