लोक कलाकार संत रात और आनंदी देवी का समान

50

अल्मोड़ा। जनकवि गिरीश तिवारी गिर्दा की जयंती पर मंगलवार को नगर पालिका सभागार में आयोजित कार्यक्रम में दिव्यांग लोक कलाकार संतराम और आंनदी देवी को समानित किया गया। आकाशवाणी के उद्घोषक नीरज भट्ट की ओर से लोक कलाकारों पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई गई। इसे लोगों ने खूब सराहा। लोगों ने लोक कलाकारों की मदद का भी भरोसा दिया। मुय अतिथि सोबन सिंह जीना परिसर के हिन्दी विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. देव सिंह पोखरिया, विशिष्ट अतिथि त्रिभुवन गिरी महाराज ने संयुक्त रूप से गिरीश तिवारी गिर्दा के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। वक्ताओं ने कहा कि गिर्दा जनसरोकारों से जुड़े रहे। साथ ही जनसमस्याओं के प्रति हमेशा चिंतित रहते थे। उन्होंने कुमाऊंनी जनगीतों से राय आंदोलनकारियों में जोश और जबा भरा। कार्यक्रम में धौलछीना के लोक कलाकार संत रात और आनंदी देवी पर बनी डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई। जिसमें उनके द्वारा गाये चाचरी, छपेली, न्योली आदि लोक संस्कृति से जुड़े गीतों को दिखाया गया। इस दौरान अतिथियों द्वारा उनको शॉल ओढ़ाकर समानित किया गया। करीब 55 हजार की एकत्र रकम को भी उनके खाते में डाले जाने की बात कही। कार्यक्रम का संचालन नारायण पाठक ने किया। इस मौके पर वरिष्ठ रंगकर्मी नवीन बिष्ट, उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केन्द्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी, नीरज भट्ट, नीरज पांगती, डा. हयात सिंह रावत, उद्घोषक बबीता भाकुनी, रमाशंकर नैनवाल, प्रकाश बिष्ट, महिपाल सिंह मेहता, श्याम सिंह कुटौला, महेंद्र ठकुराठी, ललित तुलेरा, डा. ललित जोशी, प्रेमा गड़कोटी, भास्कर साह, गोकुल सिंह बिष्ट, जयमित्र बिष्ट, वैभव जोशी, आशुतोष रावत, अजय कुमार, प्रदीप चंद समेत कई लोग शामिल रहे।
लंबे समय से लोक कलाकारों पर काम कर रहे नीरज
आकाशवाणी में उद्घोषक के तौर पर तैनात नीरज भट्ट पहाड़ के लोक कलाकारों पर लंबे समय से काम कर रहे हैं। लोक गायिका कबूतरी देवी पर भी उन्होंने डॉक्यूमेंट्री बनाई। लोक गायिका के निधन से पहले कई बार उनका साक्षात्कार भी लिया। युवा कलाकारों को भी नीरज प्रोत्साहित करते हैं। नीरज ने बताया कि बीते दिनों वह नंदा देवी मेले में गए हुए थे। इस दौरान लोक कलाकारों की उपेक्षा देख उन्होंने अपने मित्रों से लोक कलाकारों की मदद करने की अपील की। दोस्तों ने भी इसमें सहमति दी। उन्होंने बताया कि दोनों लोक कलाकारों के लिए करीब 55 हजार की रकम उन्होंने एकत्र की। इसे लोक कलाकारों के खाते में डाला जायेगा। उन्होंने लोक कलाकार संत राम और आंनदी देवी की मदद के लिए लोगों से भी आगे आने का आह्वान किया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

error: Content is protected !!