Sat. Feb 22nd, 2020

बागेश्वर में मुख्य सचिव ने किया जिम का उदघाटन

बागेश्वर ।  मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह एक दिवसीय जनपद भ्रमण के दौरान जनपद में विभिन्न योजनओं के निरीक्षण के दौरान खेल विभाग द्वारा तैयार किया गया जिम का शुभारंभ कर तार्इक्वाइंडों हॉल का भी निरीक्षण किया। शुभारंभ के अवसर पर मुख्य सचिव ने कहा कि खेल के क्षेत्र में यहां के युवाओं द्वारा विभिन्न खेलों में अपनी प्रतिभा एवं मेहनत के बलबूते जनपद एवं प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं, विशेषकर तार्इक्वाइडों खेल से जनपद के होनहार खिलाडियों ने राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीत कर अपनी अलग पहचान बनाने के साथ ही प्रदेश का नाम रोशन किया हैं। उन्होंने कहा कि इस खेल में बच्चों में उत्साह व साहस की कमी नही हैं जिसमें छोटे बच्चें भी इस खेल में प्रतिभाग कर अपना लोहा मनवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनपद के युवाओं को खेल के क्षेत्र में अपनी प्रतिभा उभारने के एवं उन्हें उचित मंच दिलाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा बेहतर ढंग से कार्य करने के साथ ही खेलों को और अधिक प्रोत्साहित करने के लिए उनके द्वारा अपने अनटार्इड फंड से ताइक्वाइडों हॉल के लिए उपलब्ध करायी गयी धनराशि हैं इस पर प्रशंसा वयक्त करते हुए कहा कि जनपद के युवा इसका अवश्य लाभ उठायेंगे। और कहा कि जनपद में छपी खेल प्रतिभावों को निखारने के लिए जिलाधिकारी एवं खेल विभाग द्वारा बेहतर कार्य किया जा रहा है, तथा खेलों के लिए उचित संसाधन उपलब्ध कराने के लिए धनराशि की कमी आडे नही आने दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जनपद के युवाओं में काफी उत्साह एवं जोश हैं ताइक्वाइडों में बेहतर प्रदर्शन इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। उन्होंने सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा भविष्य में इसी प्रकार उत्कृष्ठ प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीत कर देश, प्रदेश व जनपद का नाम रोशन करेंग्ो।उन्होंने कहा कि जनपद बागेश्वर एक दूरस्थ क्षेत्र का जनपद हैं बावजूद जहां के पुरूष एवं महिलायें मेहनतकश हैं, जो अपनी कडी मेहनत से स्थानीय उत्पाद उत्पादित कर रहें हैं जिससे कि यह जनपद अपने आप में उर्जावान एवं प्रगति के पथ पर अग्रसर हो रहा हैं तथा जनपद की महिलायें भी कृषि के क्षेत्र में बेहतर कार्य नये उत्पाद तैयार कर अपनी आजीविका को मजबूत एवं बेहतर कर रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं द्वारा कर्इ बेहतर उत्पाद तैयार किये हैं जिससे कि वह आत्म निर्भर हो रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओ की आर्थिकी को बेहतर एवं मजबूत करने के लिए सरकार इस ओर बेहतर कार्य कर रही हैं, जिससे उन्हें उचित बाजार उपलब्ध कराया जा सकें ताकि वे अपने उत्पादों को उचित मूल्यों में बेच कर अपनी आर्थिकी को और मजबूत कर सकेंगे। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने मुख्य सचिव महोदय को अवगत कराया कि जनपद में प्रतिभावान खिलाडियों की कमी नही हैं, जनपद के कर्इ खिलाडियों ने अलग-अलग खेलों में अपने उत्कृष्ठ प्रदर्शन से जनपद ही नही अपितु प्रदेश व देश का नाम रोशन कर रहें हैं इसमें बालिकायें भी पीछे नही हैं वे भी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मेडल प्राप्त कर जनपद व प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि खेल विभाग में धनराशि की कमी होने के कारण प्रतिभावान खिलाडियों को उचित संसाधन व मंच उपलब्ध नही हो पा रहे थें, जिसके लिए उन्होंने अपने अनटार्इड फंड से ताइक्वाइडों हॉल में मैट क्रय के लिए 3 लाख, 50 हजार तथा विशेष खेल प्रशिक्षण शिविरों के लिए 1 लाख, 14 हजाार की धनराशि खेल विभाग को उपलब्ध कराने के साथ ही जिला योजना के मद से तार्इक्वाइडों हॉल के लिए सेंसर कोड भी लगाया गया हैं। उन्होंने कहा कि खिलाडियों को बेहतर सुविधायें उपलब्ध हो सकें इसका भरकस प्रयास किया जा रहा हैं, ताकि वे अपने हुनर से देश व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें। इस दौरान पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल, अपर जिलाधिकारी राहुल कुमार गोयल, मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0 पंत, उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, पुलिस उपाधीक्षक महेश जोशी, जिला विकास अधिकारी के0एन0तिवारी, जिला क्रीडा अधिकारी विनोद वल्दिया, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण कुमार वर्मा, कृषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी गीतांजलि बंगारी, तहसीलदार नवाजिश खलीक सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहें। कार्यक्रम का संचालन दीप जोशी द्वारा किया गया।

 

Shares
error: Content is protected !!