जोरदार बारिश के चलते बिजली विभाग भी घाटे के चपेट में

39

 

बागेश्वर ( आखरीआंख )  उत्तराखंड में मानसूनी बारिश का कहर जारी है। बागेश्वर में मानसूनी बारिश के चलते विद्युत विभाग को 17 लाख का नुक्सान पहुंचा है। वहीं पिछले दो दिन की बारिश में ही विभाग को 9 लाख का नुक्सान हुआ है। मानसूनी बारिश के चलते विद्युत व्यवस्था को सुचारू रखना विभाग के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है।

जिले में दो माह से हो रही मानसूनी बारिश का कहर विद्युत लाईनों पर भी पड़ा है। आकाशिय बिजली गिरने और बिजली की लाइनों पर पेड़ गिरने से विभाग को भारी क्षति पहुंची है। विद्युत विभाग के अधिशाषी अभियंता भास्कर पांडे ने बताया कि पिछले एक माह में मानसूनी बारिश से विभाग को 17 लाख का नुकसान पहुंचा है। वहीं पिछले दो दिनों की बारिश में ही विभाग को 9 लाख की क्षति हुई है। उन्होंने बताया कि क्षयतिग्रस्त लाइनों को दुरुस्त करने में विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। लाइनों को दुरुस्त करने में 45 कर्मी दिन रात जुटे हैं। पिछले दो दिनों की भारी बारिश से जिले के करीब 95 गांवों की बिजली व्यवस्था बाधित हुई है। जिसमे से करीब 20 गांवों में अभी भी बिजली व्यवस्था सुचारू नहीं हो पाई है। विद्युत लाइनों में चीड़ के भारी भरकम पेड़ गिरने से बिजली के तार और पोल टूट गए हैं। जिन्हें दुरुस्त करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। विभाग पहले से ही कर्मचारियों के अभाव में काम कर रहा है। कर्मचारियों की कमी के चलते काफी दिक्कतें हो रही हैं। फरसाली, हरसिला, बनलेख, धरमघर क्षेत्र की विद्युत लाइनों को भारी नुकसान पहुंचा है। संसाधनों के अभाव के बावजूद विभाग लाइनों को शीघ्रता के साथ दुरुस्त करने का प्रयास कर रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

error: Content is protected !!